Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

गोवा में क़ब्रिस्तान के क्रूस तोड़े और अपवित्र किये गये

मलेशिया का एक क़ब्रिस्तान - AP

17/07/2017 15:14

पणजी, सोमवार 17 जुलाई 2017 (एशिया न्यूज) :  गोवा स्थित ख्रीस्तीयों के क़ब्रिस्तान के 40 से अधिक क्रूस और समाधि-पत्थर तोड़ दिये गये। गोवा के महाधर्माध्यक्ष फिलिप नेरी फेर्राव ने एक बयान में कहा, 10 जुलाई की यह घटना "निहित स्वार्थों द्वारा तैयार किया गया है ताकि सांप्रदायिक विवाद को भड़काने और धार्मिक नफरत को बढ़ावा दिया जा सके।"

गोवा के रक्षक दूत गिरजाघर के कब्रिस्तान में कब्रों के क्रूसों और समाधि-पत्थरों को तोड़ दिया गया था। गोवा में हिन्दू भारतीय जनता पार्टी राज्य सरकार की अध्यक्षता करती है।

दक्षिण गोवा के ख्रीस्तीय बहुल क्षेत्र में रोड के किनारे स्थापित अनेको क्रूसों को तोड़ने की घटना ख्रीस्तीयों द्वारा हिन्दुओं के साथ झगड़ें और हिंसा की साजिश पर संदेह किया जा रहा है।

महाधर्माध्यक्ष नेरी ने सभी धर्मों के लोगों से अपील की है कि वे कोई भी जवाबी कार्रवाई करने या धार्मिक नफरत को किसी तरह की चिनगारी न दें। उन्होंने राज्य की परंपरा "अंतरधार्मिक सद्भाव और शांति" को हर कीमत पर बरकरार बनाये रखने तथा सरकार से घटनाओं की अच्छी तरह से जांच करने और अपराधियों को सामने लाने का आग्रह किया।

10 जुलाई की घटना के बारे में पुलिस का कहना हैं कि अपराधियों ने कब्रों को तोड़ने और कब्रों पर गड़े पत्थरों को निकालने के लिए बड़े मशीनों का प्रयोग किया था। जून महीने में रास्ते के किनारे गड़े 9 क्रूस को तोड़ दिया गया और एक हिंदू धार्मिक प्रतीक भी नष्ट कर दिया गया था।

राज्य के शहर योजना मंत्री विजय सरदेसाई ने इन घटनाओं को "आतंक के कृत्यों" के रूप में वर्णित किया।

बीजेपी सदस्य एवं एम.एल.ए मिखाएल लोबो ने "बाहरी लोगों" पर घटनाओं का दोषी ठहराया और कहा " "हमें विभाजित करने का एक मजबूत प्रयास है।"


(Margaret Sumita Minj)

17/07/2017 15:14