Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

पश्चिम बंगाल के एक गिरजाघर में तोड़-फोड़

कोलकाता के एक गिरजाघर में प्रार्थनारत भक्त, तस्वीर 14.04,2017 - REUTERS

09/06/2017 11:35

राणाघाट, शुक्रवार, 9 जून 2017 (ऊका समाचार): पश्चिम बंगाल के एक गिरजाघर में, मंगलवार रात कुछेक उग्रवादी तत्वों ने तोड़-फोड़ मचाई। पुलिस ने बताया है कि अपराधियों की खोज शुरु हो गई है। 

कलीसियाई अधिकारियों ने ऊका समाचार को बताया कि दयाबारी मिशन केन्द्र के 127 वर्ष प्राचीन सन्त लूक गिरजाघर में उग्रवादियों ने तोड़-फोड़ मचाई तथा कुछेक प्राचीन धार्मिक कृतियाँ एवं 3000 रुपये नकदी चुरा कर ले गये।

गिरजाघर के पुरोहित फादर किशोर मण्डल के अनुसार, "दुष्कर्मियों ने पवित्र यूखरिस्त की रोटियों को ज़मीन पर बिखेर दिया तथा उसके टुकड़े-टुकड़े कर डाले। कुछ अन्य धार्मिक पात्र जैसे ख्रीस्तयाग में प्रयुक्त होनेवाला चषक, वेदी पर लगाये जानेवाले पीतल एवं ताम्बे के मोमबत्ती दान आदि और तीन हज़ार रुपये की नकदी लेकर अपराधी फरार हो गये।"

उन्होंने कहा कि चुराये गये पात्र अनमोल थे क्योंकि वे प्राचीन काल से गिरजाघर में थे।

तोड़-फोड़ और लूटमार का पता तब लगा जब सुबह के साढ़े चार बजे गिरजाघर में काम करनेवाले एक श्रमिक ने गिरजाघर के मुख्यद्वार के ताले को टूटा हुआ पाया। गिरजाघर में बिखरी हुई धार्मिक वस्तुओं को देख उसने गिरजाघर के अधिकारियों को जगाया जिन्होंने पुलिस को ख़बर की।

सन्त लूक गिरजाघर उस कॉन्वेन्ट के बिलकुल निकट है जहाँ मार्च 2015 में एक सत्तर वर्षीया धर्मबहन का शीलहरण किया गया था।


(Juliet Genevive Christopher)

09/06/2017 11:35