Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

सिकंदराबाद के तोड़फोड़ किये गये गिरजाघर के शुद्धीकरण की पहल

हैदराबाद स्थित गिरजाघर हमला के बाद का दृश्य - RV

30/05/2017 15:44

सिकंदराबाद, मंगलवार, 30 मई 2017 (एशियान्यूज़): ″मैं महाधर्मप्रांत के पुरोहितों एवं धर्मसमाजियों से अपील करता हूँ कि वे केसर, मेडचल जिला (तेलांगना) स्थित फातिमा की माता मरियम को समर्पित अपवित्रीकृत गिरजाघर के शुद्धिकरण की धर्मविधि में भाग लें।″ यह बात हैदराबाद के महाधर्माध्यक्ष बाला ने कही।

एशियान्यूज के अनुसार हैदराबाद के महाधर्माध्यक्ष बाला ने 9 जून को गिरजाघर शुद्धिकरण की धर्मविधि सम्पन्न करने का निश्चय किया है।

उन्होंने स्थानीय विश्वासियों से अपील की है कि वे गिरजाघर में तोड़फोड़ का प्रत्युत्तर प्रार्थना द्वारा दें जिसको कुछ धार्मिक चरमपंथियों के उकसाने पर करीब 100 लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था।

नये गिरजाघर पर 21 मई को हुई इस दुखद घटना के बाद महाधर्माध्यक्ष ने धर्मप्रांत के पुरोहितों से अपील की है कि वे शुद्धिकरण धर्मविधि के आयोजन की सूचना अधिक से अधिक विश्वासियों को दें।

एक जून को गिरजाघर के शुद्धिकरण के उपलक्ष्य में सिकंदराबाद के संत मरियम उच्च विद्यालय में, महाधर्माध्यक्ष द्वारा ख्रीस्तयाग अर्पित किया जाएगा तथा अगले शुक्रवार को दो घंटे तक पवित्र संस्कार की आराधना, धर्मप्रांत के सभी पल्लियों में की जाएगी जिसके दूसरे दिन रोजरी माला विन्ती भी की जाएगी।

9 जून को सभी काथलिक पुरोहितों, धर्मसमाजियों एवं लोकधर्मियों के लिए उपवास एवं प्रार्थना का दिन होगा। दूसरी ओर काथलिकों का एक दल हमले के शिकार गिरजाघर जाकर शुद्धिकरण की धर्मविधि सम्पन्न करेगा।   

बताया गया है कि नव निर्मित गिरजाघर यू. जोर्ज रेड्डी नामक एक काथलिक की जमीन पर स्थापित थी। स्थानीय कलीसिया ने पुलिस इंस्पेक्टर से अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की है।

महाधर्मप्रांत ने तेलांगना के गृहमंत्री से गिरजाघरों एवं काथलिक अल्पसंख्यक समुदायों की सुरक्षा की गुहार लगायी है। जिसका उत्तर देते हुए उन्होंने न्याय का पूरा समर्थन करने का आश्वासन दिया है।

बयान में कहा गया कि निजी भूमि पर बिना स्पष्ट कारण के, गिरजाघर के अंदर तोड़फोड़ एक जानबूझकर किया गया कार्य था। महाधर्माध्यक्ष ने इस बात की ओर ध्यान आकृष्ट किया है कि रेड्डी ने 500 वर्ग यार्ड जमीन दान दिया था जबकि गिरजा ने 700 वर्ग यार्ड खरीदा था। (कुल 1200 वर्ग यार्ड)

रेड्डी ने विभिन्न उद्देश्यों के लिए हॉल बनाने की अनुमति भी पहले ही ले ली थी। तीन माह पहले पल्ली पुरोहित ने गिरजाघर के निर्माण हेतु कलेक्टर को आवेदन दिया था जो प्रक्रिया में है और जिस को अंतिम रूप दिया जा रहा था। 


(Usha Tirkey)

30/05/2017 15:44