Social:

RSS:

App:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ विश्व की कलीसिया

नवशहीदों के जागरण हेतु सन्त पापा जायेंगे सन्त बार्थोलोमेओ गिरजाघर

सन्त इजिदियो समुदाय का प्रतीक - RV

21/04/2017 12:36

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 21 अप्रैल 2017 (सेदोक): सन्त पापा फ्राँसिस 22 अप्रैल को रोम के सन्त बार्थोलोमेओ गिरजाघर में नवशहीदों के आदर में प्रार्थना जागरण की अध्यक्षता करेंगे।

वाटिकन ने शुक्रवार को प्रकाशित किया कि रोम स्थित सन्त इजिदियो समुदाय, सन्त बार्थोलोमेओ गिरजाघर में, सन्त पापा के आगमन की तैयारियाँ कर रहा है। सन्त पापा जॉन पौल द्वितीय ने सन् 1999 ई. में इस गिरजाघर को नवशहीदों के नाम समर्पित कर इसका कार्यभार सन्त इजिदियो के सिपुर्द किया था।

रोम समयानुयार शनिवार सन्ध्या पाँच बजे जागरण प्रार्थना शुरु होगी। जागरण समारोह के दौरान कलीसिया के नवशहीदों के कुछ रिश्तेदार साक्ष्य प्रस्तुत करेंगे। रिफोर्म्ड कलीसिया के पादरी पौल के सुपुत्र कार्ल श्नाईडर तथा फ्राँस में आतंकवादियों द्वारा मारे गये काथलिक पुरोहित जैक्स हामेल की बहन रोज़लीन अपना साक्ष्य प्रस्तुत करेंगी।

पादरी पौल सन् 1939 ई. में, बुखेनवाल्द के नज़रबन्दी शिविर में नाज़ियों द्वारा मार डाले गये थे। उन्होंने नाज़ी सत्ता के बारे में कहा था कि यह "बाईबिल धर्मग्रन्थ के शब्दों से कतई मेल नहीं खाती है", जबकि फादर जैक्स हेमल फ्राँस के रोएन में विगत वर्ष 26 जुलाई को इस्लामी आतंकवादियों द्वारा पवित्र मिस्सा के दौरान मार डाले गये थे।

इनके अतिरिक्त, लातीनी अमरीकी देश सान-साल्वादोर में 2009 में अपने विश्वास के ख़ातिर मारे गये सन्त इजिदियो के सदस्य युवा विलियम क्वियानो के मित्र फ्राँसिसको हेरनानडेज़ ग्वेवारा भी साक्ष्य प्रस्तुत करेंगे। युवा विलियम सन्त इजिदियो की "शांति की पाठशाला" नामक संस्था में किशोरों को शिक्षित करने का काम करते रहे थे। इन्हें केन्द्रीय अमरीका के कुख्यात "माराज़"  नामक अपराधी गुट के लोगों ने मार डाला था।

जागरण प्रार्थना का नेतृत्व करने के उपरान्त सन्त पापा फ्राँसिस गिरजाघर के छ: प्रार्थनालयों में श्रद्धार्पण करेंगे जहाँ यूरोप, अफ्रीका, अमरीका, एशिया और साथ ही साम्यावाद एवं नाज़ीवाद के शिकार बने नवशहीदों के अवशेष सुरक्षित रखे गये हैं। इसी अवसर पर वे, शहीदों के रिश्तेदारों एवं मित्रों से मुलाकात कर, उन्हें अपना आशीर्वाद प्रदान करेंगे।


(Juliet Genevive Christopher)

21/04/2017 12:36