Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

अपहरण किये गये पुरोहित ने संत पापा से मदद की अपील की

सालेशियन पुरोहित टोम उजुन्नालिल - RV

27/12/2016 15:14

यमन, मंगलवार 27 दिसम्बर 2016 (सीएनए न्यूज) : 4 मार्च 2016 को यमन में अपहरण किये गये सालेशियन पुरोहित फादर टोम उजुन्नालिल ने वीडियो के माध्यम से व्यक्तिगत रुप से अपनी रिहाई के लिए संत पापा से मदद की अपील की।

फादर टोम उजुन्नालिल ने कहा, ″प्यारे पापा फ्राँसिस,  पिता समान आप मेरे जीवन की देख-भाल कीजिए। मेरी सेहत बिगड़ती जा रही है मुझे जल्द से जल्द अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत है।  कृपया मेरी मदद करें।"

फादर ने भारत की कलीसिया और सरकार को भी मदद हेतु अपील की है।

फादर ने कहा, ″काफी महीने हो गये मेरे अपहरणकर्ताओं ने भारत सरकार से मेरी रिहाई के लिए बहुत बार संपर्क किया। मुझे बहुत दुःख है कि मेरे संबंध में गंभीरता से कोई कदम नहीं लिया गया है।″ 

फादर टोम ने कहा, ″मैं भारत और दुनिया के सभी धर्माध्यक्षों से अपील करता हूँ कि आप मेरी मदद करें। मेरे जीवन की रक्षा करें। मैं बहुत उदास और दुःखित हूँ। मैं विभिन्न सरकारों और सभी लोगों से अपील करता हूँ मानवता के नाते मेरी रक्षा कीजिए। मुझे आपकी जरुरत है कृपया मेरी मदद करें।″ 

संत पापा ने रविवार 10 अप्रील को संत पेत्रुस महागिरजा के प्रांगण में देव दूत प्रार्थना के बाद फादर टोम की रिहाई की अपील की थी। संत पापा ने कहा,″ मैं सशस्त्र संघर्ष क्षेत्रों में सभी अपहरण किये गये व्यक्तियों की मुक्त कराने के लिए मेरी अपील को दुहराता हूँ। विशेषकर मैं सालेशियन पुरोहित टोम उज़न्नालिल को याद करता हूँ  जिसका अपहरण 4 मार्च को यमन के अदन में हुआ था।"

किसी ने भी फादर के अपहरण की जिम्मेदारी नहीं ली है। यमन में राजनीतिक अस्थिरता की वजह से भारत सरकार के लिए फादर की रिहाई हेतु बिचौलिया बहुत मुश्किल था।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 6 मार्च को ट्वीट किया, ‘‘यमन संघर्ष क्षेत्र है। वहां हमारा दूतावास नहीं है। लेकिन हम फादर टोम उज्हुन्नाली का पता लगाकर उन्हें वापस लाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।″

ज्ञात हो कि फादर टोम उज़हूनलिल का अपहरण यमन के अदन शहर से 4 मार्च को हो गया था जब वे वयोवृद्धों एवं विकलांग लोगों के लिए मिशनरीस ऑफ चैरिटी द्वारा संचालित केंद्र में ख्रीस्तीयाग अर्पित करने गये थे।

अपहरण के समय से ही फादर के बारे कई अफवाहें फैली रही हैं अपहरण के एक महीने के अंदर ही कहा जा रहा था कि पुण्य शुक्रवार के दिन फादर को प्रताड़ित किया गया। विगत जुलाई माह में एक वीडिया को फादर टॉम का वीडियो माना जा रहा था जिसमें एक व्यक्ति को सताया जा रहा था और उसकी शारीरिक स्थिति अत्यन्त दयनीय थी।


(Margaret Sumita Minj)

27/12/2016 15:14